बड़ी खामोसी से बैठे हैं फूलो के धरौदे....जरा पूछ बतलाएंगे सारी गुस्ताखिया....!!!______ प्यासे गले में उतर आती....देख कैसे यादों की हिचकियाँ....!!!______ पलके उचका के हम भी सोते हैं ए राहुल....पर ख्वाब हैं की उन पर अटकते ही नहीं....!!!______ आईने में आइना तलाशने चला था मैं देख....कैसे पहुचता मंजिल तो दूसरी कायनात में मिलती....!!! धुप में धुएं की धुधली महक को महसूस करते हुए....जाने कितने काएनात में छान के लौट चूका हूँ मैं....!!!______बर्बादी का जखीरा पाले बैठी हैं मेरी जिंदगी....अब और कितना बर्बाद कर पाएगा तू बता मौला....!!!______ सितारे गर्दिशों में पनपे तो कुछ न होता दोस्त....कभी ये बात जाके अमावास के चाँद से पूछ लो....!!!______"

गुरुवार, 10 जुलाई 2014

Tanhai-The Lonely Rhythm


Tanhai-The Lonely Rhythm
A Track from Maestro Productions
Singer: Vishaal Mishra
Lyrics: Misra Raahul
Composer: Vishaal Mishra & Misra Raahul

  


साथ तो चलता है वो मेरे
फिर भी ना वो मिलता है...!!!
पास तो रहता है वो मेरे
फिर भी ना वो मिलता है...!!!
सांस मे रहता है वो मेरे
फिर भी ना वो मिलता है...!!!

ख़यालो मे देखा उसको,
सैलाबों मे खोजा उसको,
सवालो मे पूछा उसको,
जवाबों मे जाना उसको।
ख़यालो मे देखा उसको,
सैलाबों मे खोजा उसको,
सवालो मे पूछा उसको,
जवाबों मे जाना उसको।

दिल जो कहता है उसे
वो तो सुनता ही नहीं....!!!
मैं तो हूँ यहाँ...
तू है जाने कहाँ....

बिना तेरे...जीना तो
जीना तो लगता है आसाँ कहाँ...!!

तेरे बिना...तेरे बिना
तेरे बिना...तेरे बिना
जीना नहीं...!!
तेरे बिना...तेरे बिना
तेरे बिना...तेरे बिना
जीना नहीं...!!

साथ तो चलता है वो मेरे
फिर भी ना वो मिलता है...!!!
पास तो रहता है वो मेरे
फिर भी ना वो मिलता है...!!!
सांस मे रहता है वो मेरे
फिर भी ना वो मिलता है...!!!

Download: bit.ly/thelonelyrhythm

4 टिप्‍पणियां: